Digital fainasial Services

Share From Here

डिजिटल फाइनांसियल सर्विसेज  Digital fainasial Services

Digital वित्तीय सेवाए द्वारा आधारभूत वित्तीय सेवाओ का लोगो तक नवीनतम तकनीको मोबाइल तथा इलेक्टानिक मुद्रा उपाकरण डिजिटल भुगतान आदि के द्रारा पहुचाया जाता है।

Types of Account:-

(1) Saving Account:-

  • इस प्रकार का खाता प्राय:उन व्यक्तियो के लिए उपयुक्त होता है जो कभीकभी तथा बहुत छोटीछोटी मात्राओ में रुपया जमा करना या निकालना चाहते है।

 (2) Current Account:-

इस खाते में जमा करने वाले को अधिकार है कि वह अपनी इच्छानुसार धन को निकाल सकते है एवं जमा कर सकते है। बैंक इस प्रकार के खातो पर जमा हेतु कोई ब्याज नही देती एवं एक निश्चित राशि से कम जमा करने पर जमाकर्ता से वसूल करते है।

 (3) Recurring Deposing Account:-

आवर्ती जमा (रेकरिंग डिपॉजिट) एक विशेष प्रकार का सावधि जमा है  जिसमें प्रति माह या प्रति वर्ष एक निश्चित राशि जमा की जाती है। इसमें ब्याज सबसे ज्यादा मिलता है

Loan

बैंक का अंन्य महत्वपूर्ण कार्य ऋण देना है जो निम्नलिखित प्रकार के है।

Over drap [O.D]–

चालू खाता वाले जमाखाता को उनके खाते में जमा रकम से अधिक राशि निकालने की सुविधा देता है

भारत में लोन तीन प्रकार के दिये जाते है

  • अल्पकालीन लोनयह लोन 1 वर्ष से कम अवधि के लिए दिया जाता है।
  • मध्यकालीन लोनइस लोन को 1 वर्ष से 3 वर्ष की अवधि के बीच दिया जाता है।
  • दीर्घकालीन लोनयह लोन 3 वर्ष से ऊपर की अवधि के लिए दिया जाता है।

E.M.I [equated monthly installment]:-

cheque:-

चेक एक प्रकार से विनिमय हुण्डी होती है [Bill of exchange] जो एक निदृष्ट बैंक के ऊपर आहारित है तथा माग पर ही जिसका भुकतान किया जाता है |

गतावधि अर्थवा पुराना चेक:-

यादि चेक जारी करने के तिथी के बाद वह चेक समुचित अवधि [वर्तमान में 3 महीने] के लिए प्रस्तुत न किये जाए तो उसे गतावधि अथवा पुराना चेक कहते है।

MICR [Magnetic Ink Character Recognition]:-

चेक में बैंक के नाम  के अतिरिक्त 9 अंको की एक संख्या भी मुद्रित होती है,  MICR चेक का इलेकटा्निक कि्लयरेन्स को सम्भव बनाता है यह पद्यति भारत में 1987 में लागू की गयी

KYC:- [Know your costumer]:

अपने ग्राहक को जानो -RBI द्वारा इसे 23 july 2013 को दिशा जारी किये गये है।

Insurance [बीमा]:-

इंश्योरेंस का मतलब है जोखिम से सुरक्षा है. अगर कोई बीमा कंपनी किसी व्यक्ति का बीमा करती है तो उस व्यक्ति को होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी करेगी. आम तौर पर बीमा दो तरह का होता है:

  • जीवन बीमा            (2)गैरजीवन बीमा  

जीवन बीमा ( Life Insurance):

जीवन बीमा में किसी इनसान की जिंदगी का बीमा किया जाता है.

गैरजीवन बीमा :-

यह ऐसा बीमा होता है जिसमे जीवन और मृत्यु से कोई सम्बन्ध नहीं होता , साधारण बीमा में वाहन, घर, पशु, फसल, स्वास्थ्य बीमा आदि सभी शामिल हैं |

1.प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY)-

जन धन (Jan-Dhan) योजना 14 अगस्त 2014 को मंजूर हुई थी और 28 अगस्त 2014 को लांच हुई. जनधन  का यह कार्यक्रम विन्तमंत्रालय द्रारा क्रियावनित किया जाता है।

योजना के लाभ:-

  1. जमा पर व्याज
  2. 1-लाख तक दुर्घटना बीमा कवर
  3. न्यूनतम बैलेंस की आवश्यकता नहीं

2.प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना(PMSBY)–

इस बीमा योजना के अंतर्गत 12 रूपए वार्षिक प्रीमियम पर दुर्घटना बीमा किया जाएगा। यह योजना 18 – 70 साल के लोगों के लिए है|

3.प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना(PJJBY):-

इस बीमा योजना के अंतर्गत 330 रूपए वार्षिक प्रीमियम पर बीमा किया जाता है जिसमे पॉलिसीधारक की मौत होने पर ही बीमा कंपनी इंश्योरेंस की रकम का भुगतान करती है । यह योजना 18 – 50 साल के लोगों के लिए है|

अटल पेंशन योजना(APY):-

अटल पेंशन योजना (APY) का फायदा उठाने के लिए आपकी उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चहिए. केंद्र सरकार ने APY को मई 2015 में शुरू किया था APY में पेंशन की रकम आपके द्वारा किए गए निवेश और आपकी उम्र पर निर्भर करती है. अटल पेंशन योजना (APY) के तहत कम से कम 1,000 रुपये और अधिकतम 5,000 रुपये मासिक पेंशन मिल सकता है. 60 साल की उम्र से आपको APY के तहत पेंशन मिलना शुरू हो जायेगा|

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना (PM-SYM):

सरकार ने असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों के लिए यह पेंशन योजना शुरू की है. इस योजना के तहत निवेशक को हर महीने कुछ राशि निवेश (Invest) करनी होगी. सरकार इस योजना के जरिए 60 वर्ष की आयु पूरी होने पर निवेशक को हर महीने 3 हजार रुपये पेंशन की गारंटी देती है. इस योजना में आप जितना योगदान करते हैं, सरकार भी आपके अकाउंट में उतना ही योगदान करती है.

 

NPS:- National Pension System यह 1 जनवरी 2004 से लागू हुआ ।

PPF(Public Provident Fund):-

सार्वजनिक भविष्य निधि,  भारत सरकार की ओर से अपने citizens को उपलब्ध कराई गई बचत योजना है ! यह योजना बिलकुल टैक्स फ्री हैं ! यह छोटी –छोटी बचतो को एकत्रित करती है।

Currency:-

भारत में ₹ रूपये का चिन्ह का उपयोग 15 जुलाई 2010 से शुरू हुआ। यह चिन्ह डॉ० उदय कुमार ने बनाया । अभी तक भारतीय रूपयो में 17 भाषाओ में ही रूपये का मूल्य लिखा जाता है जबकि भारत के संविधान के 8 वीं अनुसूची में 22 भाषाओ की मान्यता दी गयी है।

बैंकमित्र :-

बैंक मित्र वे लोग होते है जो लोगो को बैंकिग सुविधाए उपलब्ध कराते है

जैसे — खाता खोलना , खाता में पैसा जमा करना इत्यादि।

बैकिंग सर्विस डिलिवरी चैनल :-

NEFT [National Electronic Funds Transfer] :-

यह एक देशव्यापी electronic fund transfer system है जिससे पैसे को एक bank account से दुसरे bank account में आसानी से और सुरक्षित रूप से भेजा या प्राप्त किया जाता है. |

RTGS [Real-Time Gross Settlement]:-

यह एक ऐसा online banking method है जहाँ की पैसों को एक bank से दुसरे bank तक बिना कोई waiting time के भेजा जाता है. इसको 7 am से 6 PM तक केवल वर्किंग डेज को ही भेजा जा सकता है|

IMPS–

IMPS का पूरा नाम IMMEDIATE PAYMENT SERVICE   है. IMPS पैसे ट्रांसफर करने का बहुत ही सिक्योर तरीका है जोकि NPCI(National Payments Corporation of India) के द्वारा संचालित होता है|

AEPS(Aadhaar Enabled Payment System )—

यह एक ऐसा सेवा है जिससे बैंक के ग्राहक अपने  खाते को आधार से जोड़ कर आसानी से अपने खाते तक पहुंच सकते है जिसके जरिये ग्राहक अपने बैलेंस की जांच, पैसे निकलना इत्यादि कार्य कर सकते है|

BHIM—

भीम ऐप (BHIM-Bharat Interface for Money) वित्तीय लेनदेन हेतु भारत सरकार के उपक्रम भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम(NPCI) द्वारा 30 December 2016 में आरम्भ किया गया । जिसके जरिये हम अपने मोबाईल की मदद से तेज सुरच्छित और भरोसेमंद कैशलेस पेमेंट कर सकते है और यह बैंकअकाउंट के साथ मिलकर पैसे भेजने में मदद करता  है|

UPI—

UPI(Unified Payments Interface)– यह भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) एवं भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा शुरू किया गया ऑनलाइन पेमेन्ट सिस्टम का नया तरीका है।इस एप्लीकेशन के द्वारा उपभोक्ता आसानी से अपने स्मार्टफोन से पैसों का लेन-देन कर सकते है। UPI एप्प की एक खास बात यह भी है की इसमें किसी प्रकार की बैंक डिटेल्स जैसे- IFSC Code आदि की जरूरत नही होती बस इसमें UPI एप्प की वास्तविक आईडी से ही सारे ट्रांजेक्शन हो जाते है।

Digital Locker—

भारत सरकार ने जुलाई 2015 में नागरिको को पेनकार्ड, मार्कसीट, डिग्री ,प्रमाण पत्र जैसे अपने महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट को संग्रहित करने की लिए सुविधा प्रदान की है यह सुविधा पाने के लिए आपके पास आधार कार्ड का नंबर या मोबाइल नंबर होना चाहिए इसमें डाटा को रखने के लिए का 1GB स्पेस दिया जाता है|

UMANG App–

उमंग (यूनीफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू एज गवर्नेंस) सरकार का एक ऐप है, जिसके जरिये वह एक ही प्लैटफॉर्म पर कई सरकारी सेवाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है | जैसे— LPG, पासपोर्ट सेवा, फसल बीमा , इत्यादि |