a paralyised man can be a great indian Bodybuilder (सफल होने के लिए, अपनी कमजोरी को अपनी ताकत में बदल दें!)

a paralyised man can be a great indian Bodybuilder (सफल होने के लिए, अपनी कमजोरी को अपनी ताकत में बदल दें!)---

नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप सब , मै आज आप सब को बताने वाला हु एक ऐसे कहानी जिसको सुनने के बाद आप भी मोटीवेट हो कर कुछ न कुछ जरूर करोगे। क्या आप ने कभी सोचा है कि अगर किसी को बचपन में ही कैंसर हो जॉय और वह उसके बाद वो लकवा का शिकार और उसको ये बताया जाय की वह पूरी उम्र आपने पैरो पर खड़ा नहीं हो सकता तो सोचिये वो इंसान कैसे जियेगा क्या वो भगवन और खुद को जिंदगी भर कोसेगा या फिर कुछ करेगा।

a sample body bildo image
a sample body bildo image

ऐसे ही भारत क एक ब्याती है जिनका नाम है आनंद अर्नाल्ड जिनक जन्म 11 November , 1986 को पंजाब के लुधियाना में हुआ था। उनको बचपन से की बॉडी बिल्डिंग का शौक था। वो तेरह साल के उम्र में ही जीम म पसीना बहाना शुरू कर दिया था लेकिन दो साल बाद उनके कैंसर का पता चला था जिसका उन्हें सर्जरी करनी पढ़ी , सर्जरी के बाद उनका शरीर का अद्धा हिसा में लकवा मार गया जिससे वो कभी आपने पैरो पैर नहीं चल सकते थे। 
अब उनके पास दो रास्ते थे एक की वो की वो पूरी लाइफ व्हील चेयर पर बिता दे या फिर लाइफ में कुछ कर जाय --------------------------------
लेकिन उन्होंने ने लाइफ में कुछ करने की ठान ली और उनके माता पिता और उनके बढ़े भाई ने उनका काफी साथ दिया। उन्होंने अपना लक्ष्य बना लिया और दिन रात जिम में व्हील चेयर के सहारे ही पसीना बहते रहे। 
और उनकी मेहनत  रंग लाइ और उसके बाद उन्होंने  तीन बार मिस्टर वर्ड और तेरह बार मिस्टर पंजाब का और 27 बार अलग अलग ख़िताब जीते और इस तरह से वो इंडिया का पहला व्हील चेयर बॉडी बिंडो बन गये। 

शारांस --

अगर एक लकवा और कैंसर से पीड़ित बय्क्ति कितना बढ़ा नाम कर सकता है तो कोई वि कुछ वि कर सकता है। 

आनंद के ही शब्दों में, ' सफल होने के लिए, अपनी कमजोरी को अपनी ताकत में बदल दें! '

                                   "you can do any thing now its your time:


you can read more such post for click below links--

Post a Comment

0 Comments