जब एक बिना हाथ पैर के वय्कित इतना बढ़ा काम कर सकता है तो दुनिया में कोई भी कुछ वि कर सकता है।no hand no feet no excuse

जब एक बिना हाथ पैर के वय्कित इतना बढ़ा काम कर सकता है तो दुनिया में कोई भी कुछ वि कर सकता है।no hand no feet no excuse

शायद  आपके पास  भी हाथ और पैर  हो लेकिन आप यदि तीन चीज नहीं जानते नंबर एक की आप कौन है नंबर दो आपकी क्या वैलु  है और नंबर तीन  आपके लाइफ का क्या उद्देश्य है।  तो आप बिना हाथ पैर के आदमी से ज्यादा लाचार है। क्या आप ने कभी सोचा है की यदि आपके हाथ पैर न हो तो क्या होगा क्या आप इसी तरह जिपाएँगे जैसे आप जी रहे है शायद  नहीं ? जरा सोचिये यदि किसी वयक्ति के जन्म से ही हाथ और पैर न हो या फिर किसी accident में ये कट जाय तो वो जीना छोर देते है या फिर लाइफ से समझौता कर के जीते है ! और खुद को और ईश्वर को कोसते रहेंगे !

आज हम बात करने जा रहे है एक मशहूर वयक्ति के बारे में जिनका नाम है निक वुजिसिक (nick vujicic)
ये एक मशहूर मोटिवेशनल स्पीकर (motivation spearker) है। जिनका जन्म 4 दिसंबर 1982 को आस्ट्रेलिया में हुआ था। जो जन्म से टेट्रा-अमेलिया सिंड्रोम (टेट्रा-अमेलिया) से ग्रस्त थे , जिससे दोनों हाथ और पैर जन्म से ही नहीं थे। 
nick vujicic
nick vujicic


जिसके कारन वो परेशान तो थे ही और जब वो स्कुल जाने लगे तो बाकी बच्चो ने जम कर मज़ाक उढ़ाया जिससे मेंटली और इमोशनली कोइ भी बच्चा टूट जाता। स्कुल में निक का कोई दोस्त नहीं बना अकेलेपन और नओमिडी ने उसे इस तरह तोड़ दिया वो दस साल के उम्र में सुसाइड करने की सोच लीये थे। लेकिन  माता पिता और भाई बहन के प्यार  ने उन्हें टूटने नहीं दिया और उन्हें आत्म हत्या  करने से रोक लिया। निक बाकि बच्चो से अलग थे और वो जीने की वजह ढूढते रहते थे। वो खुद पर और अपने भगवान पर यकीन करना सुरु किया।
उन्होंने अपने जीवन को नई दिशा और सोच को आगे बढ़ाया। उन्होंने अपनी कमजोरी को ताकत बनाने की सोची और 17 साल की उम्र में उन्होंने खुद का एक NGO (life without limb) की स्थापना की। और उस दिन से लेकर कभी पीछे मुढण का नहीं देखे। आज वो दुनिया के मशहूर मोटिवेशन स्पीकर में से एक है और उनके जीने के नजरिये ने लाखो लोगो की जीवन को सुधारा है। 19 साल की उम्र में पहली स्पीच से लेकर आज तक वो 40 देशो की यात्रा कर चुके है वो उन्होंने पूरी दुनिया में अपना छाप छोड़ा है। वो  शानदार फुटबॉल और गोल्फ खेलते है। वो एक अच्छे स्विमर के अलावा एक म्यूजिसियन भी है। आज निक न केवल शादी सुधा है बलिकी उनके बच्चे भी है। निक कहते है उम्मीद खोना हाथ पैर खोने से कही ज्यादा खतरनाक है। इसलिए कभी उम्मीद नहीं खोना चाहिए इंसान जो चाहे वो कर सकता। no hand no feet no excuse ----------------------------------------
सारांश ----- जब एक बिना हाथ पैर के वय्कित इतना बढ़ा काम कर सकता है तो दुनिया में कोई भी कुछ वि कर सकता है। 
you can do any thing-------------------------------------------------------------------------------------------------


now its your time






you can read more such post for click below links--

Post a Comment

0 Comments